www.rhymly.com – Arpan khoshla

( Written by its CEO – Arpan Khosla) Rhymly.com is a recently launched search engine website that helps budding poets, shayars, lyricists, rappers, theatre jingle writers, Youtube Artists, ad agencies etc. find rhymes of all common Hindi words. Just search for any Hindi word in Hinglish & you will get all its rhymes in Hinglish & Devanagari both. This way a writer has to only concentrate on creativity & leave the Vocabulary part to us.…

"www.rhymly.com – Arpan khoshla"

मेरे पास उत्तर है – मनोगुरु

मेरे पास आज भी हर , प्रश्न का उत्तर था जब अपनों ने किया प्रश्न उस प्रश्न का भी उत्तर था फिर मन ये क्यूँ निरुत्तर था जब पास मेरे उत्तर था उनकी नजर होता जवाब जो उचित उत्तर था वो प्रश्न का प्रत्युत्तर था पर वक़्त का रुख था ही ऐसा बेहतर ही था जो निरुत्तर था मेरे पास आज भी हर प्रश्न का उत्तर था पर आज ना मैं , निरूत्तर हूँ Writer…

"मेरे पास उत्तर है – मनोगुरु"

” Mr. Irritating ” – Nilesh Sharma

एक गुज़ारिश – Nilesh Sharma (Mr. Irrirating) महान व्यक्तियों, बुद्धजीवियों, बड़े लोगों, स्वैग वाले भाइयों आपसे गुज़ारिश है अगर आपके पास एक हारा, दुर्दुराया हुआ लड़का या कोई ऐसा इंसान आता है जिसके सपने अंदर ही अंदर उफ़ान मार रहे हों, जो भले ही बोलने में हिचकिचाये, डरे, और किसी तरह आत्मविश्वास की गठरी बांध कर आपसे कुछ सुझाव मांगे तो उसे उसकी उम्र, उसकी बेबसी और उसकी नाकामयाबियों के बारे में अपना ब्रह्माज्ञान ना…

"” Mr. Irritating ” – Nilesh Sharma"

Kingfisher And Wild life Photography

एक दिलचस्प वाक़िआ- __________________ किंगफ़िशर नाम की इस चिड़िया का यह परफ़ेक्ट शॉट लिया है वाइल्ड लाइफ़ फोटो ग्राफर ‘एलन मॅक फ़ेडिन’ ने. जी किंगफ़िशर वही किंगफ़िशर जिसकी तस्वीर आपने बियर की बोतल और हवाई जहाज़ में बनी देखी होगी. वही किंगफ़िशर जिसका मालिक देश को चकमा देकर लगभग नौ हज़ार करोड़ रुपये लूट के भाग गया. दरअस्ल ये चिड़िया भी विजय माल्या की ही तरह चालाक और शातिर है. किंगफ़िशर लगभग गोली की रफ़्तार…

"Kingfisher And Wild life Photography"

“वो दोंनों इन्सान “— मनोगुरू

“वो दोनों इन्सान ही हैं” अब सुनो कुछ “वो”सुना सा, माना सुना पर अनसुना सा….. लो सुनाऊँ अब तुम्हें मेैं, माना दिखा पर ना दिखा सा…. सीमा पर तैनात जवान , खेत को सींचता किसान, हाँ यही हैं “वो” इन्सान , जहान में ज्यादा हैरान एक दुश्मन से हैरान , दूजा प्रकृति से परेशान, एक मन से वीरान , दूजा धन से वीरान, जंग में शहीद जवान , कर्ज से मरता किसान, एक सरजमीन पर…

"“वो दोंनों इन्सान “— मनोगुरू"