महफिल – ए – शायरी ( 1 )

नीलू @The sapphire30

काश तू मेरी आँखों का आँसू बन जाए
तुझे खोने के डर से मैं रोना छोड़ दूँगी

+
अभिषेक त्रिपाठी ‘मनोगुरू’ @dark days diary

माना कि तेरी आँखों का आँसू बन जाऊँ,
पर डर है कहीं बन आँसू ही ना बह जाऊँ…..

 

@kish mehra

क्या खूब दिल छलनी करते हैं
शायर महबूब के पहले इश्क के शेर….

+
@dark days diary

माना दिल छलनी करते हैं, महबूब के शेर
वाह-ए-हुजूर के नजराने में, क्या खूब है देर

 

Sandhya3057

हकीकत है, तू ख्वाब मेरे लिए
छू नहीं सकती, वो शबाब मेरे लिए

+
manoguru (Dark Days Diary)

जो ख्वाब में तू भी नेक, कभी नहीं मिलताी
मानो कोई बरसी बूँद , जमीं पे नहीं मिलती

 

Alok (Simple poetry)

ना जाने कितनी ख्वाहिशें थी मेरी
सब ढल गई, सिवा मेरे

+

Abhishek Tripathi (Dark.Days.Diary)

ना जाने कितनी आजमाइशें थी तेरी
सब जल गई, सिवा मेरे

 

manoguru ( Dark Days Diary )

बेशक अभी अन्जाना,
जाना का दीवाना…
सब्र कर कुछेक दिन,
जानेगा तुझे जमाना…..

+

जाना का दीवाना

Pravesh chaudhri (fb)

 

कुछ शायरबाजी की झलक साथी लेखकों के साथ , दरअसल “मनोगुरू” की ही Dark Days Diary का कुछ भाग ही है ये।

Thanks a lot

नीलू @The_sapphire30

@Sandhya3057

Alok @simple_poetry

@kish mehra

Pravesh chaudhri (जाना का दीवाना ) yq

ये सभी बेहतरीन है । इनकी रचनाओं को आप सब instagram पर पढ़ सकते हैं……..

 

 

महफिल – ए – शायरी ( 2 )

Manoguru

Hey...! My name is Abhishek Tripathi and pen name "Manoguru". Thanks a lot to be a member of my life by my these startups. I hope that you are easily understand me and my aim to change something in everyone. You know that -" Nobody can do everything but Everybody can do something". so activate your inner powers, talent, sensitivity , sincerity etc. Be a helping human... keep connected....... thanks again

12 thoughts on “महफिल – ए – शायरी ( 1 )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *